रविवार, 12 जून 2011

"Bhrastachariyon Ki Jeet"

जिस तरह बाबा का अनसन खत्म हुआ है उससे यहाँ लगता है की केंद्र सरकार रामदेव जैसे लोंगों का बलिदान ले सकती है परन्तु भ्रष्टाचार  का दामन नहीं छोड़ेगी . सरकार ने एक बार भी गंभीरता से उन मांगों को मानने पर विचार नहीं किया . शायद कांग्रेस के लिए देश से बढकर पार्टी हो गयी है. यह उन भारतवासियों के लिए एक कड़वा घूंट है इमानदारी और संस्कृति का चोला पहना हुआ है...............

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें